बुधवार, 20 जुलाई 2011

प्रश्न और उत्तर


















एक प्रश्न है और
उत्तर की तलाश है

कि तुम्हारी ग़ैरमौजूदगी में
ये ख़ूबसूरती
काइनात की
कहाँ खो जाती है?

8 टिप्‍पणियां:

संजय भास्कर ने कहा…

रचना और भाव दोनों ही सुन्दर हैं!

संजय भास्कर ने कहा…

हर शब्द बोलता हुआ |मन को छूते भाव |बहुत खूब |

संगीता स्वरुप ( गीत ) ने कहा…

कायनात की खूबसूरती देखने का मन नहीं करता ..इस लिए खो सी जाती है

रश्मि प्रभा... ने कहा…

uske saath chali jati hai....

JHAROKHA ने कहा…

deep shikha ji bahut hi sundar
chhoti si rachna me badi baat kah di aapne .
main rashmi di ki baat se samat hun.
bahut hi sundar---
badhai
poonam

रश्मि प्रभा... ने कहा…

http://www.parikalpnaa.com/2011/07/blog-post_9289.html

Kailash C Sharma ने कहा…

थोड़े शब्दों में बहुत कुछ कह दिया..बहुत सुन्दर

Rishabh Jain ने कहा…

कम शब्द और अनंत भाव !!

Related Posts with Thumbnails